Narendra Modi Biography in Hindi | नरेन्द्र मोदी का जीवन परिचय

Narendra Modi Biography in Hindi | नरेन्द्र मोदी का जीवन परिचय

Narendra Modi Biography in Hindi | नरेन्द्र मोदी का जीवन परिचय

Narendra Modi Biography in Hindi- नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में 282 सीट जीतकर अपार सफलता प्राप्त की और 28 मई 2014 को भारत के 15 वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण किया | इस पद पर आसीन होने वाले स्वतंत्र भारत के पहले व्यक्ति है | यह प्रसिद्ध राजनेता के साथ अटल बिहारी वाजपेयी की तरह कवि भी है | तो आइए जानते है भारत के विकासवादी नेता और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जीवन परिचय के बारे में…….

पूरा नाम – नरेन्द्र दामोदरदास मोदी 

जन्म – 17 सितम्बर 1950 

जन्मस्थान- वडनगर, जिला- मेहसाना (गुजरात)

पिता- दामोदरदास मूलचंद मोदी

माता- हीराबेन मोदी

पत्नी- जसोदाबेन

Narendra Modi Biography in Hindi नरेन्द्र मोदी का जीवन परिचय

भारत के 15 प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी का जन्म 17 सितम्बर 1950 वडनगर के मेहसाना जिले के पंसारी परिवार में हुआ था | इनका परिवार मोड़-गंची तेली समुदाय से सम्बंधित है | जो भारत सरकार के अनुसार पिछड़ी जाति में आते है | यह अपने माता पिता दामोदरदास मूलचंद मोदी और हीराबेन मोदी की छः संतानों में 3 नंबर पर है | आप सभी ये सोच कर हैरान होंगे कि भारत जैसा विशाल देश के प्रधानमंत्री जैसे पद पर बैठा व्यक्ति बचपन में वडनगर रेलवे स्टेशन पर अपने पिता की चाय बेचने में मदद करते थे | इन्होंने बाद में अपने भाई के साथ बस स्टैंड के पास खुद चाय का स्टॉल लगाना शुरू कर दिया | इन्होंने अपनी उच्च माध्यमिक शिक्षा 1967 में वडनगर से ही प्राप्त की थी और यह बचपन से ही बहुत होशियार छात्र थे | यह वाद-विवाद और नाटक प्रतियोगिता में बहुत रूचि रखते थे | नरेन्द्र मोदी नाटको में ऐसी भूमिका निभाते थे जो उनके जीवन से बड़ी हो | इसका प्रभाव उनके राजकीय जीवन पर भी पड़ा | यह महज 8 साल की उम्र में स्थानीय आरएसएस (RSS) की शाखाओं में प्रशिक्षण लेना शुरू किया, और वहां इनकी मुलाकात वकील साहेब के नाम से जाने, जाने वाले लक्ष्मणराव ईमानदार से हुई | जिन्होंने नरेन्द्र मोदी को आरएसएस का बालस्वयंसेवक भी नियुक्त किया था |

यह 1980 में आरएसएस का प्रशिक्षण लेने के दौरान बीजेपी के सदस्य बने | नरेन्द्र मोदी का विवाह कम उम्र में ही जसोदाबेन के साथ हुआ था | उस समय यह हाईस्कूल और स्नातक किये हुए थे, इसलिए इन्होने विवाह को अस्वीकार कर दिया | इन्हें 1967 में पारिवारिक उलझनों के कारण अपना घर छोड़ना पड़ा | इस वजह से इन्होने अपनी आध्यात्मिक यात्रा शुरू कर दिया | यह भारत के अलग-अलग स्थानों  जैसे बंगाल के राधाकृष्ण आश्रम, हिमालय, ऋषिकेश आदि का भ्रमण करके 2 साल बाद घर वापस लौट आए | लेकिन इनके दिमाग से राष्ट्र की सेवा करने का विचार नहीं गया | इसलिए 2 सप्ताह घर रुकने के बाद यह अहमदाबाद के लिए निकल पड़े | वे बाद में अपने अंकल के साथ रहने लगे जो गुजरात के रोड ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन में काम करते थे | नरेन्द्र मोदी ने 1971 में इंडो-पाक युद्ध के बाद अपने अंकल के लिए काम करना बंद कर दिया और आरएसएस के लिए फुल प्रचार करने लगे | नरेन्द्र मोदी ने 1978 में दिल्ली विश्वविद्यालय से राजनीति शास्त्र की डिग्री प्राप्त की और 5 साल बाद गुजरात विश्विद्यालय से राजनीति शास्त्र में मास्टर ऑफ आर्टस की डिग्री प्राप्त की | युवावस्था में यह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद छात्र संगठन में शामिल हुए |

नरेन्द्र मोदी जी का राजनैतिक सफ़र

1971 में नरेन्द्र मोदी ने अपना पूरा जीवन RSS ज्वाइन करने के बाद राजनीती को समर्पित कर देश सेवा करना शुरू कर दिया | 1975-77  के मध्य राजनीतिक झगड़ों के कारण जब प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी ने राज्य में आपातकालीन घोषित कर RSS जैसी संस्था को बंन्द करने का आदेश दिया | तो नरेन्द्र मोदी ने गुप्त रूप से एक पुस्तक लिखी जिसका नाम “संघर्षं माँ गुजरात”, है | जिसमें इन्होंने गुजरात की राजनीती का वर्णन किया है | आरएसएस में काम करने के कारण 1978 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गये | बीजेपी में यह दिन ब दिन आगे बढ़ते गए और इस पार्टी में रहकर सामाजिक हितो में कई काम किये | उन्होंने business के privatization, छोटे business को बढ़ावा दिया | नरेन्द्र मोदी 1995 में राष्ट्रीय मंत्री के रूप में नियुक्त हुए | 1998 के चुनाव में बीजेपी को आगे बढ़ाने मे नरेन्द्र मोदी का बड़ा योगदान है | फरवरी 2002 में नरेन्द्र मोदी गुजरात में मुख्यमंत्री के रूप में सेवा कर रहे थे |

यहाँ आने जाने वाली ट्रेनों पर किसी ने हमला किया जो कथित रूप से मुसलमानों ने किया था | लेकिन बदले की प्रतिशोध के कारण गुलबर्ग में रह रहे मुस्लिमो पर हमला किया गया | इस तरह हिंसा बढती गयी जिसके कारण उस समय की मोदी सरकार को कर्फ्यू की घोषणा करनी पड़ी | कुछ दिनों बाद दोनों समुदायों में शांति की स्थित होने पर मोदी सरकार की पूरे भारत में जमकर अलोचना हुयी क्योंकि उस हमले में लगभग 1000 सें भी ज्यादा मुस्लिम मारे गए थे | मोदी के खिलाफ दो जाँच कमेटी गठित करने के बाद सर्वोच्च न्यायालय ने पाया कि नरेन्द्र मोदी के खिलाफ कोई गवाह नहीं है जिससे इनको दोषी ठहराया जा सके | 2007 और 2012 में नरेन्द्र मोदी पुनः गुजरात के मुख्यमंत्री बने | लेकिन तब से मोदी ने हिन्दुत्ववादी विचारो पर कम और development पर ज्यादा ध्यान देने लगे | गुजरात के विकास और प्रगतिशील होने का श्रेय आज भी मोदी को दिया जाता है | गुजरात से गरीबी हटाकर काम-काज को बढ़ावा दिया | जिससे आज गुजरात मॉडल पूरे राष्ट्र में प्रसिद्ध है |

Narendra Modi |नरेन्द्र मोदी का प्रधानमंत्री बनना

जून 2013 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री उम्मीदवार घोषित किया था | इस लोकसभा चुनाव में नरेन्द्र मोदी ने बहुत मेहनत की और भारत के विकास के बारे में समझाया | मई 2014 के अंत में मोदी और उनकी पार्टी ने लोकसभा चुनाव के 532 में से 282 सीट निकाल कर इतिहास रच दिया | इस जीत के साथ इन्होने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को हराया जो बिगत 60 वर्षो से भारतीय राजनीति को संभाल रही थी | भारतीय जनता ने यह साबित कर दिया की वह समय के साथं भारत में मोदी के रूप में बदलाव लाना चाहते थे |

2014 के फेमस नारे : अबकी बार मोदी सरकार और अच्छे दिन आने वाले है |

नरेन्द्र मोदी की रचनाए :

  • कर्मयोग,
  • जोतिपुंज (2008),
  • आँख आ धन्य छे (गुजराती कविताएँ ),
  • सेतुबंद्ध – राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नेता लक्ष्मणराव ईमानदार की जीवनी के सहलेखक है (2001)

मै उम्मीद करता हूँ मेरे द्वारा दी गई Narendra Modi Biography in Hindi | नरेन्द्र मोदी का जीवन परिचय आप सभी को जरूर पसंद आया होगा | जिसे आप अपने friends group और social networking site पर like और share करना न भूले | इस post से जुड़े कोई भी सवाल या सुझाव है तो हमें comment box में जरूर बताये । 

3 thoughts on “Narendra Modi Biography in Hindi | नरेन्द्र मोदी का जीवन परिचय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *